बिहार में कोरोना नहीं चुनाव की चल रही है तैयारी।

0
171
बिहार में चुनाव की तैयारी

बिहार में कोरोना नहीं चुनाव की चल रही है तैयारी।

बिहार में  हालात दिनों दिन बेकाबू हो रहे और स्वास्थ्य व्यवस्था की बदहाल स्थिति भी ज्यों के त्यों है |

रोजाना इन्टरनेट के माध्यम से जानकारी अस्पतालों और मरीजों की हम देख ही रहे हैं, यहाँ तो खुले आम कोरोना पाजिटिव मरीज घूम रहे ना तो उन्हें अस्पताल में आने दिया जा रहा अब और ना ही कोई सुनने को तैयार हो रहा |

लोग करे तो करे क्या ?

टेस्ट तक नहीं हो पा रहा इलाज तो यहाँ दूर की बात है ये सब किस्सा बिहार की राजधानी “पटना ” के प्रतिष्ठित अस्पतालों का है  अन्य जिलों की  हालात का अंदाज़ा यहाँ से लगाया जा सकता है |

3-4 दिनों से यूँ ही मदद की आशा में अस्पताल के चक्कर लगाते मरीज के परिजन और आखिरी में बिना किसी टेस्ट के बिना किसी इलाज के मरीज ने दम तोड़ दिया |

ये सब किस्सा है बिहार के उन अस्पतालों का जिसे पूर्ण रूप से अभी कोरोना के इलाज के लिए विशेष अस्पतालों के लिस्ट में शामिल किया गया है|

क्या PMCH, क्या NMCH और क्या ही “पटना AIIMS” !!

मरीज को कही से किसी तरह की मदद नहीं मिल रही है।

गाँव से आए एक “अभ्यास करने वाले”  जो गाँव में रह के गाँव में लोगों का इलाज किया करते थे, पर जब वो खुद कोरोना के शिकार हो गये और कोई एम्बुलेंस सेवा ना मिलने पर अपने इलाज के लिए निजी गाड़ी से पटना की ओर निकल पड़े । 
अस्पताल परिसर में काफी इन्तजार के बावजूद कोई भी साहयता नहीं मिलती दिखाई दी उन्हें. साथ में उनके पास आक्सीजन का सिलेंडर दिखा जिसे वो खुद खरीद कर खुद अपने साथ इस्तेमाल में रखे हुए थे  | आक्सीजन सिलेंडर से अपनी जान बचाने की कोशिश में थे मानो अपनी सांसे काफी मुश्किल से संभाले हुए हैं  सांस लेने में तकलीफ और उनकी घुटन और जीवन मृत्यु के बीच जूझते और आखों में आंसू लिए  ऐसी व्यवस्था देखकर  आखों में बिहार में जन्म लेने का अफसोस होता दिखाई दिया |

बिहार दर्द से कराह रहा पर शायद इस दर्द की कराहट की आवाज उन लोगों को सुनाई नहीं दे रहा जिनके पास इन जाती जानों में जान देने  की जिम्मेवारी थी।

धन्यवाद !!

© Shweta Sah

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here